Jinn Aur Aaseb Se Bachne Ke Liye जीन और आसेब से बचने के लिए

Jinn Aur Aaseb Se Bachne Ke Liye जीन और आसेब से बचने के लिए

Jinn Aur Aaseb Se Bachne Ke Liye जीन और आसेब से बचने के लिए  ,” जिस मुकाम या मकान पर रोज़ाना १११ बार इस इस्म का विर्द किया जाये वह जगह जीन , परी भूत परिंदा और आसेब से हमेशा के लिए महफूज़ रहेगी क्योंकि यह बात रोज़े रोशन की तरह अयाँ है की जहा नूर हो वहां नारी मखलूक नहीं रह सकती इसलिए अपने माकन को नारी मखलूक से महफूज रखने के लिए इस इस्म का रोज़ाना अपने मकान में १११ बार विर्द करना चाहिए

Jinn Aur Aaseb Se Bachne Ke Liye Amal In Urdu

jis mukaam ya makaan par rozaana 111 baar is ism ka wird kiya jaaye wo jagah jinn , pari, bhoot , parinda aur aaseb se hamesha ke lie mahfuz rahegi kyonki yah baat roze roshan kee tarah pak aur sahi  hai ki jaha noor ho wahan aurat makhalook nahi rah sakatee isaliye apane maakan ko aurat makhalook se mahafuj rakhane ke liye is ism ka rojana apne makaan me 111 baar wird karna chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *